रक्षा मंत्री का बड़ा ऐलान, LAC पर चीन के साथ बनी सहमति, पीछे हटेगी चीनी सेना

एलएसी पर पिछले एक साल से चल रहे तनाव को लेकर राज्यसभा में रक्षामंत्री ने अच्छी खबर दी है. राजनाथ सिंह ने कहा है कि, भारत और चीन के बीच समझौता हो गया है.

एलएसी पर पिछले एक साल से चल रहे तनाव को लेकर राज्यसभा में रक्षामंत्री (Rajnath singh) ने अच्छी खबर दी है. राजनाथ सिंह (Rajnath singh) ने कहा है कि, भारत और चीन के बीच समझौता हो गया है. दोनों देशों की सेनाएं आपसी सहमति से पीछे हटेंगी. राजनाथ सिंह ने ऐलान किया है कि, पेंगोंग के नॉर्थ और साउथ बैंक को लेकर 9वें दौर की बातचीत के बीच सहमति बनी है. चीन की सेना पीछे हटेगी और जो निर्माण कारय अभी तक किया गया था उसे हटा दिया जाएगा.

रक्षा मंत्री (Rajnath singh) ने राज्यसभा में ऐलान किया है कि, भारत ने स्पष्ट कर दिया है कि, एलएसी में बदलाव ना हो और दोनों देशों की सेनाएं अपनी-2 जगह वापस पहुंच जाएं. उन्होंने कहा, हम एक इंच भी जमीन किसी को नहीं देंगे. रक्षा मंत्री (Rajnath singh) ने आगे कहा, चीन ने पिछले साल भारी संख्या में गोला बारूद इकट्ठा किया था. जिसके जवाब में हमारी सेना ने चीन के खिलाफ उचित कार्रवाई की थी.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जो सहमति बनी है उसमें फिंगर 4 में दोनों ओर से पेट्रोलिंग नहीं की जाएगी. फिंगर 4 को नो पट्रोलिंग जोन घोषित किया गया है. ये चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा. चीनी सेना फिंगर 8 की तरफ और भारतीय सेना धन सिंह थापा पोस्ट यानी कि, फिंगर 2 से फिंगर 3 की ओर लौट आएगी.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस सांसद ने कहा- योगेन्द्र यादव के खालिस्तानियों से संबंध, पुलिस करे गिरफ्तार !

आपको बता दें कि, दोनों देशों के बीच पिछले साल अप्रैल-मई महीने में एलएसी पर तनाव शुरू हो गया था. पेंगोंग झील पर चीनी सेना ने अपना दावा बढ़ाने की कोशिश की थी. इस दौरान भारतीय सेना के साथ चीनी सैनिकों की झड़प भी हुई थी. इसके बाद 15 जून को गलवान घाटी में चीनी सेना ने धोखे से पेट्रोलिंग पर गई भारतीय सेना पर हमला बोल दिया था लेकिन भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया था. इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. वहीं चीन के भी तमाम जवान मारे गए थे.

Related Articles

Back to top button