प्रयागराज : सरकार का ऑपरेशन नेस्तोनाबूत ऑन, भूमाफिया परेशान

माफियाओं और  बाहुबलियों पर सरकार का चाबुक चल रहा है। मुख़्तार अंसारी के बाद  माफिया राजेश यादव के खिलाफ बड़ी कार्रवाई हुई है। माफिया राजेश यादव के अवैध मकान पर सरकारी बुलडोजर चल रहा है।

माफियाओं और बाहुबलियों पर सरकार का चाबुक चल रहा है। मुख़्तार अंसारी के बाद  माफिया राजेश यादव के खिलाफ बड़ी कार्रवाई हुई है। माफिया राजेश यादव ( mafia Rajesh Yadav) के अवैध मकान पर सरकारी बुलडोजर (Government bulldozer) चल रहा है।

राजेश यादव की छोटी हवेलिया झूंसी में बुलडोजर चल रहा। उन्होंने बगैर नक्शा पास कराए बिल्डिंग बनवाई थी।  मकान खाली कराने कर ध्वस्तीकरण जारी है। पुलिस और प्रशासन की मौजूदगी ध्वस्तीकरण का कार्य हुआ।

राजेश यादव पर दर्ज हैं 26 मुकदमे

माफिया की फेहरिस्त में शामिल राजेश यादव कुख्यात अपराधी है। पिछले दो महीने से उसके विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। इसके बाद पुलिस उसकी गतिविधि से लेकर संपत्ति तक के बारे में जानकारी जुटाना शुरू कर दिया था। पुलिस रिकार्ड में झूंसी थाना क्षेत्र के नैका महीन गांव निवासी राजेश यादव उर्फ मामा के खिलाफ कर्नलगंज, धूमनगंज, कैंट, सिविल लाइंस, शिवकुटी, जार्जटाउन, नैनी और झूंसी थाने में 26 मुकदमे दर्ज हैं।

उमर अंसारी एवं अब्बास अंसारी पर शत्रु विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज

आपको बता दें कि इससे पहले योगी  सरकार मुख़्तार अंसारी और उनके परिवार की अवैध संपत्ति पर बुलडोज़र चलवा  थे। बता दें कि अगस्त के अंतिम सप्ताह में मुख्तार अंसारी का अवैध कब्जे वाला घर गिराया गया था। यह इमारत उन्होंने लखनऊ के जियामऊ में बना रखी थी। इस कार्रवाई के बाद पुलिस ने सरकारी संपत्ति पर अवैध कब्जे के आरोप में मुख्तार अंसारी और उनके बेटों उमर अंसारी एवं अब्बास अंसारी पर शत्रु विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था।

इस मामले में जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार अंसारी और उनके बेटे उमर व अब्बास के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में केस दर्ज कराया था। सुरजन लाल का आरोप था कि जिस जमीन पर मुख्तार के बेटों ने टॉवर बनवाए थे, वह मो. वसीम की थी।

 

 

Related Articles

Back to top button