विकास दुबे को लेकर बड़ी खबर, एसआई टी की जांच में हुआ ये बड़ा खुलासा

कानपुर देहात से बड़ी खबर सामने आ रही है।  कुख्यात विकास दुबे के साथी अरविंद त्रिवेदी उर्फ गुड्डन त्रिवेदी व उसकी पत्नी कंचन त्रिवेदी पर केस दर्ज हुआ है। एसआई टी की जांच में फर्जी दस्तावेज लगाकर शास्त्र लाइसेंस व सिम लेने का खुलासा हुआ है। 

कानपुर देहात से बड़ी खबर सामने आ रही है।  कुख्यात विकास दुबे के साथी अरविंद त्रिवेदी उर्फ गुड्डन त्रिवेदी व उसकी पत्नी कंचन त्रिवेदी पर केस दर्ज हुआ है। एसआई टी की जांच में फर्जी दस्तावेज लगाकर शास्त्र लाइसेंस व सिम लेने का खुलासा हुआ है। 

फर्जी दस्तावेजों से सिम कार्ड लेकर उसका उपयोग करने व मूल तथ्य,पता, आपराधिक इतिहास छिपा कर शास्त्र लाइसेंस बनवाये थे।इतना ही नहीं मूल पता गांव कुढ़वा थाना शिवली की जगह कस्बा रुरा से फर्जी शपथ पत्र के सहारे शस्त्र लाइसेंस बनवाये थे।

ये भी पढ़ें – बुलंदशहर : एक अनोखा निकाह ऐसा भी …

पत्नी कंचन त्रिवेदी के नाम रिवाल्वर का लाइसेंस बनवाया था

शिवली थाने में गुड्डन त्रिवेदी पर कई आपराधिक मामले दर्ज थे। थाना रुरा के कस्बा रुरा के पते से गुड्डन त्रिवेदी ने अपने नाम एक राइफल और एक दुनाली बंदूक व अपनी पत्नी कंचन त्रिवेदी के नाम रिवाल्वर का लाइसेंस बनवाया था। अरविंद त्रिवेदी उर्फ गुड्डन को पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार किया था। कानपुर देहात के थाना रुरा में केस दर्ज हुआ।

ये भी पढ़ें – बड़ी खबर : कांग्रेस में शोक की लहर, इस दिग्गज नेता की हुई मौत

आपको बता दें कि कानपुर-बिकरू कांड में एसआईटी की जांच में एक के बाद एक खुलासे होते जा रहे हैं। अब एसआईटी जांच में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। कुख्यात अपराधी विकास दुबे की पत्नी समेत उसके रिश्तेदारों व परिचितों ने फर्जीवाड़ा करते हुए कागजों पर सिम लिए थे।

जय बाजपेई के द्वारा पासपोर्ट भी बनवाया गया था

जो अपराध के दायरे में आता है। इसलिए एसआईटी की जांच रिपोर्ट के आधार पर जिला प्रशासन ने इन सभी पर केस दर्ज करने के लिए पुलिस आदेश दिए हैं। यहां तक कि फर्जी दस्तावेज पर जय बाजपेई के द्वारा पासपोर्ट भी बनवाया गया था। इन सभी तथ्यों का जांच में खुलासा हुआ है।

ये भी पढ़ें-  पति था मानसिक रोगी, पांच सौ रूपये उधार लेकर शुरू किया काम और आज हैं करोड़ों की मालकिन

एसआईटी की जांच में ही खुलासा हुआ है कि विकास दुबे की पत्नी रिचा सहित राजू वाजपेयी व अन्य कुछ लोगों ने फर्जी आईडी पर सिम ले रखे थे। पुलिस द्वारा छानबीन करते हुए जब इनके मोबाइल नंबरों का ब्योरा खंगाला तो ये तथ्य सामने आए।

फिलहाल अपर मुख्य सचिव और एसआईटी अध्यक्ष संजय भूसरेड्डी के निर्देश पर इन सभी के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहा गया है। वहीं जय बाजपेई के पासपोर्ट के बारे में पता चला कि आपराधिक इतिहास छिपाने के लिए जय ने फर्जी वोटर आईडी कार्ड पर पासपोर्ट बनवाया था।

  • हमें फेसबुक पेज को अभी लाइक और फॉलों करें @theupkhabardigitalmedia 

  • ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @theupkhabar पर क्लिक करें।

  • हमारे यूट्यूब चैनल को अभी सब्सक्राइब करें https://www.youtube.com/c/THEUPKHABAR

Related Articles

Back to top button