अमेठी। मां बेटे के हत्यारे को अमेठी पुलिस ने किया गिरफ्तार

मेठी में सात दिन पूर्व पुलिस की नाक के नीचे मां-बेटे की हुई निर्मम हत्या के मामले में आज पुलिस ने खुलासा कर दिया  है। मृतक युवक का एक युवती से अवैध संबंध था

अमेठी में सात दिन पूर्व पुलिस की नाक के नीचे मां-बेटे की हुई निर्मम हत्या के मामले में आज पुलिस ने खुलासा कर दिया  है। मृतक युवक का एक युवती से अवैध संबंध था जिसको लेकर उसे और उसकी मां को मौत की नींद सुला दिया गया था। पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया है जहां से उसे अदालत ने जेल भेज दिया है।

इसे भी पढ़ें –ATM से पैसे निकालना पड़ सकता हैं महंगा, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने जारी किया नोटिफिकेशन

पुलिस के अनुसार पूछताछ में गिरफ्तार हत्यारोपी रमन ने बताया कि मृतक राजीव का उसकी भांजी से संबन्ध था। जिसे राजीव रमन के घर व अपने घर लेकर आया था। बाद में लड़की के घर वाले आकर लड़की को अपने साथ घर ले कर चले गये। जिस पर राजीव को शक हुआ कि रमन ने ही लड़की के घर वालों को बता दिया है।

राजीव रमन के घर जाकर रमन की पत्नी से मारपीट किया था। मारपीट की जानकारी रमन को होने पर रमन अपने साथी विनोद सिंह उर्फ पप्पू के साथ मिलकर राजीव के घर में आकर मारपीट करने लगा। बीच बचाव में राजीव की माता सुशीला को भी चोट लगने से मृत्यु हो गयी तथा रमन और विनोद ने मिलकर राजीव को मारा और भाग गये।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक वादी योगेन्द्र त्रिपाठी निवासी असैदापुर वॉर्ड 15 ने तहरीर दिया था कि डीएम अमेठी के आवास के सामने मेरा पैतृक मकान है। मेरी माता सुशीला त्रिपाठी व मेरा सगा छोटा भाई राजीव त्रिपाठी रहते थे। 24 दिसंबर की शाम करीब 5 बजे सूचना के आधार पर घर का ताला तोड़कर देखा गया तो घर के अन्दर मेरी माता व भाई का शव मिला था। मुझे संदेह है कि मेरे भाई की हत्या रमन जो हनुमान तिराहा के पास छाया स्टूडियो के बगल कस्बा गौरीगंज में रहता है उसी के द्वारा की गयी है। घटना के कुछ दिन पहले मेरे भाई राजीव व रमन से विवाद हुआ था। इस सूचना पर थाना गौरीगंज पर मुकदमा दर्ज हुआ था। आज पुलिस ने इस मामले में अशुतोष सोनी उर्फ रमन पुत्र हीरालाल सोनी निवासी हनुमान तिराहा को रेलवे स्टेशन मोड़ के पास से गिरफ्तार किया है।

Related Articles

Back to top button